होम Strategy Politics केंद्र सरकारने लागू किए किसान बिल के खिलाफ आज विधानभवन में विरोध...

केंद्र सरकारने लागू किए किसान बिल के खिलाफ आज विधानभवन में विरोध प्रदर्शन किया गया ।
केंद्र सरकारने लागू किया हुआ किसान बिल जल्द से जल्द वापस लिया जाए ।

केंद्र सरकारने लागू किए किसान बिल के खिलाफ आज विधानभवन में विरोध प्रदर्शन किया गया ।
केंद्र सरकारने लागू किया हुआ किसान बिल जल्द से जल्द वापस लिया जाए ।


मुंबई : केंद्र सरकार ने लागू किया हुआ किसान बिल किसानों के हित में ना होकर यह सिर्फ बिल कॉरपोरेट और उद्योगपतियों के लिए बनाया गया हुआ बिल है । इस तरह का बिल फिर वापस लिया जाए यह आज समाजवादी पार्टी के मुंबई / महाराष्ट्र अध्यक्ष आमदार अबू आसिम आज़मी ने विधानभवन में चल रहे सत्र में बैनर दिखाकर बिल के खिलाफ विरोध प्रदर्शन करते हुए कहा ।


इस समय मीडिया से बात करते समय अबू आज़मी ने कहा कि, इतिहास में इतना बड़ा किसानों का आंदोलन कभी नहीं हुआ तभी भी सरकार इनकी समस्याओं को नजरअंदाज कर रही है। मोदी सरकार ने कसम खाई है के वह सिर्फ कॉरपोरेट और उदोगपतियों को ही आगे बढ़ाएगी ऊनके लिए ही काम करेगी । हमारी यह मांग है के सरकार जल्द से जल्द इस बिल को वापस ले ।


इस समय भिवंडी पूर्व के आमदार रईस शेख, शेतकरी कामगार पक्ष के आमदार जयंत पाटिल भी मौजूद थे ।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Must Read

मुस्लिम संघटनो ने बढ़ाया बाढ़ पीड़ितों के लिए मदद का हाथ

महाराष्ट्र में आये बाढ़ग्रस्त लोगों के लिए बढ़ाया में मदद का हाथ …. बाढ़ पीड़ितों की मदद के लिए...

कास्टिंग काउच करने वाले को मनसे कार्यकर्ताव ने की पिटाई

कास्टिंग काउच करने वाले को मनसे कार्यकर्ताव ने की पिटाई न्यूकमर को काम दिलाने के नाम पर कोम्प्रोमाईज़ करने...

महाराष्ट्र में नक्सलवादी भी कर रहें हैं ड्रोन का इस्तमाल

महाराष्ट्र में नक्सलवादी भी कर रहें हैं ड्रोन का इस्तमाल महाराष्ट्र के गडचिरोली और गोंदिया जिले में नक्सलियों द्वारा...

निधि झा के साथ शादी के बंधन में बंधे राघव नय्यर

निधि झा के साथ शादी के बंधन में बंधे राघव नय्यर बलिया : भोजपुरी सिनेमा की मशहूर अदाकारा निधि...

गायिका आशा भोंसले को महाराष्ट्र भूषण पुरस्कार से नवाजा जाएगा।

गायिका आशा भोंसले को महाराष्ट्र भूषण पुरस्कार से नवाजा जाएगा। सांस्कृतिक मंत्री अमित देशमुख ने इसे लेकर की घोषण।