होम Strategy Politics बकरीद के त्योहार में बकरा मंडी लगाने की इजाजत दे सरकार -...

बकरीद के त्योहार में बकरा मंडी लगाने की इजाजत दे सरकार – अबु आसिम आज़्मी

बकरीद के त्योहार में बकरा मंडी लगाने की इजाजत दे सरकार – अबु आसिम आज़्मी

सरकार बैठक कर इसके लिए निकाले रास्ता ताकि कुर्बानी आसानी से की जा सके

साल भर बकरा पालने वाले इस त्योहार का करते है इंतिजार

कोरोना ल कहर का असर त्योहारों पर भी पड़ा और सभी ने सरकार के द्वारा जारी गाइडलाइन का ख्याल रखते हुए सभी त्योहार अपने घरों में ही मनाया , और अब भी धार्मिक कार्यक्रमो पर पाबंदी लगी हुई है लेकिन अब धीरे धीरे कोरोना के बढ़ते आंकड़े कम हो रहे है और महाराष्ट्र में अनलॉक भी शुरू हुआ है कुछ राहत के साथ , ऐसे में अब मुस्लिम समाज मे बकरीद के त्योहार को लेकर सरकार से विनती कर रही है ताकि यह त्योहार मनाया जा सके।

समाजवादी पार्टी के महाराष्ट्र प्रदेश अध्यक्ष और विधायक अबु आसिम आजमी ने एक वीडियो जारी कर बयान देते हुए कहा कि एनसीपी चीफ शरद पवार, मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे और मुम्बई बीएमसी कमिश्नर इकबाल सिंह चहल से विनती करते हुए कहा है कि 21 जुलाई की रोज बकरीद है और यह मुस्लिम भाइयों के लिए काफी त्योहार है जब वो कुर्बानी करते है जानवर की इसलिए सरकार इस तोयहार को लेकर रियायत दे।

आजमी ने आगे ये भी कहा है,की देश के कोने कोने से से लोग महराष्ट्र में आते है ताकि अपने द्वारा पाले गए जानवर को बेच कर कुछ पैसे कमा सके। यह बकरा पालने वाले किसान पूरे साल भर इसी उमीद से अपने जानवरो को पालते है ताकि बकरीद के त्योहार के दिन इसे बेच सके और उससे मिलने वाली रकम से अपने , बच्चों की फीस भर सके , अपनी बेटियों की शादी कर सके और अपने बूढ़े माँ – बाप का इलाज कर सके ।

पिछले साल 2020 में इसी तरह की नॉबत आई थी और उस दौरान कई बकरे शहर में नही आ सके और कई करोड़ो का नुकसान हुआ लोगो का और उसमें छोटा बकरे पालने वाला किसान काफी मुश्किलों से गुजरा अब अगर सरकार ने राहत दी तो उन छोटे बकरा बेचने वालों को राहत मिलेगी।

आगे आजमी ने ये भी कहा है,की जिस तरह से हाल ही के चुनाव में देखा गया कि ,बड़ी – बड़ी चुनावी रैलियों को निकाला गया,कौन कर रहा था,प्राधानमंत्री कर रहे थे।सारे सावधानियों और इस संकट काल के बीच कुम्भ मेला भी सम्पन्न हुआ।इतना ही नही गुजरात के एक मंदिर में हजारो की तादात में महिलाये इकठ्ठा होकर कोरोना को खत्म करने के लिये प्राथर्ना करती नजर आई,जहां सोशल -डिस्टेंसिंग का पालन बिल्कुल भी नही दिखा।

आजमी ने सरकार से निवेदन किया है की सारी सावधानियों को उपयोग करते हुए कोई एक ऐसा रास्ता निकाला जाये, की सारे बकरों की कुर्बानी का कार्यक्रम ठीक तरह से हो जाये। और इस बात पर भी जोर दिया कि सरकार चाहे तो एक रास्ता बीच का निकाल सकते है इसलिए एक बैठक के जरिये रास्ता निकाला जाए जहां पर लोग आये अपनी मंडी लगाये और बकरों की खरीद-फरोख्त कर सके।

आजमी ने सरकार पर आरोप लगाते हुए साफ कहा है,की जब भी नाइंसाफी की बर्फ गिरती है,तो मुसलमानों पर ही क्यों गिरती है।आजमी ने सरकार से अपील की है,की पिछले साल की तरह इस साल ये नाइंसाफी ना की जाये और सरकार सही रास्ता निकाले ताकि लोगो को राहत मिल सके। आजमी ने उम्मीद जताई है कि सरकार जरूर कुछ न कुछ रास्ता जरूर निकालेगी।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Must Read

मुस्लिम संघटनो ने बढ़ाया बाढ़ पीड़ितों के लिए मदद का हाथ

महाराष्ट्र में आये बाढ़ग्रस्त लोगों के लिए बढ़ाया में मदद का हाथ …. बाढ़ पीड़ितों की मदद के लिए...

कास्टिंग काउच करने वाले को मनसे कार्यकर्ताव ने की पिटाई

कास्टिंग काउच करने वाले को मनसे कार्यकर्ताव ने की पिटाई न्यूकमर को काम दिलाने के नाम पर कोम्प्रोमाईज़ करने...

महाराष्ट्र में नक्सलवादी भी कर रहें हैं ड्रोन का इस्तमाल

महाराष्ट्र में नक्सलवादी भी कर रहें हैं ड्रोन का इस्तमाल महाराष्ट्र के गडचिरोली और गोंदिया जिले में नक्सलियों द्वारा...

निधि झा के साथ शादी के बंधन में बंधे राघव नय्यर

निधि झा के साथ शादी के बंधन में बंधे राघव नय्यर बलिया : भोजपुरी सिनेमा की मशहूर अदाकारा निधि...

गायिका आशा भोंसले को महाराष्ट्र भूषण पुरस्कार से नवाजा जाएगा।

गायिका आशा भोंसले को महाराष्ट्र भूषण पुरस्कार से नवाजा जाएगा। सांस्कृतिक मंत्री अमित देशमुख ने इसे लेकर की घोषण।