महाराष्ट्र के खाटीक समाज की समस्या को लेेकर हुई मुलाकात पशुपालन मंत्री सुनील केदार से – हाजी अरफ़ात शैख़

0
173

महाराष्ट्र के खाटीक समाज की समस्या को लेेकर हुई मुलाकात पशुपालन मंत्री सुनील केदार से – हाजी अरफ़ात शैख़

मुंबई – संवादाता

मुस्लिम खाटिक समाज इन दिनों काफी मुस्किलो से गुजर रहा है उनके व्यपार में इस कदर मंदी नक दौर शुरू है कि उनके परिवार के पालनपोषण करना भी काफी मुश्किल होता जा रहा है। पिछले 5 सालो से बकरे की (खाल) चमडी की भी कीमत अच्छी मिला करती थी लेकिन इए वक्क्त उसी चमड़ी (खाल) की कीमत इतनी कम हो गई है कि अब पंधरा से बीस रुपये ही मिलते है । इसी विषय को लेकर पूर्व मंत्री एवं विधायक आशिष शेलार के नेतृत्व में राज्य मुस्लिम खाटीक समाज सेवा संस्था के अध्यक्ष हाजी अरफात शेख एवं वरिष्ठ पदाधिकारियो के साथ मिलकर राज्य के पशुपालन मंत्री सुनील केदार से मुलाकात हुई इस मुलाकात में खाटीक समाज के विभिन्न समस्यांओ पर चर्चा हुई।

खाटिक समाज द्वारा कई समस्या मंत्री सुनील केदार के सामने रखी लेकिन इसमें दो प्रमुख मुद्दे रहे जो काफी एहम है।

1 प्याज की तरही बकरे की (खाल) चमडे के लिए 500 रुपये गॅरंटी मूल्य राज्य सरकार की तरफ से दिया जाये।

2 बाहरी राज्यो से आने वाले खरीददार व्‍यापारीयो पर बंदी लायी जाए, जिसके चलते मांसाहार करनेवाले और साथी-साथ इसकी विक्री करनेवाले खाटीक समाज को अच्छे दिन आने वाले है।

इन सभी मुद्दो पर राज्य के पशुपालन मंत्री से चर्चा के बाद उन्होने विश्वास दिलाया की बाहरी राज्य से आने वाले व्यपारियों पर रोका जायेगा साथी साथ चमडा प्रोसेसिंग प्लांट के संदर्भ में जल्द से जल्द एक बैठक बुलाकर निर्णय लिया जायेगा। इस के चलते मुस्लिम तथा हिंदू खाटीक समाज को इसका बडा फायदा हो सकता है। साथ ही मांसाहार का सेवन करने वाले सभी लोगो को इसका फायदा होगा। मस्जिद और मदरसो जैसे धार्मिक स्थल को (खाल) चमडा के विक्री से होने वाले मुनाफे का फायदा उन गरीब और यतीम लोगो को भी मिलेगा जिसको इसकी जरूरत है।

खाटिक समाज की समस्याओं की जानकरी के लिए निवेदन देते हुए

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें