होम Strategy Politics महराष्ट्र में किलों को लेकर मचा घमासान - सत्ता पक्ष और विपक्ष...

महराष्ट्र में किलों को लेकर मचा घमासान – सत्ता पक्ष और विपक्ष आमने सामने

महराष्ट्र में किलों को लेकर मचा घमासान – सत्ता पक्ष और विपक्ष आमने सामने

मुंबई – संवादाता

महाराष्ट्र की देवेंद्र फडणवीस सरकार सूबे के 25 किलों को हेरिटेज होटल और शादी-ब्याह लोकेशन बनाने की तैय्यारी में है। महाराष्ट्र सरकार सूबे के किलों को हेरिटेज होटल में तब्दील करने की तैय्यारी में है। एनसीपी ने इसका विरोध किया है एनसीपी नेता जितेंद्र आव्हाड ने कहा यह किले किसी की जागीर नहीं है अगर यहाँ हेरिटेज होटल और शादी-ब्याह लोकेशन बनाने की कोशिश की तो विरोध होगा तो वही बीजेपी द्वारा इसे राजनीति बताते हुए कहा कि विपक्ष को कुछ पता नही है बस राजनीति कर रही है ऐसा कोई भी फैसला सरकार ने नही किया है जिसका विरोध हो जो असोरक्षित किले है उन्हें पर्यटन की दृष्टि से विकास करने का प्रयत्न किया गया है इससे स्थानिक लोगो को रोजगार मिलेगा पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा और इकोनॉमी को फाएदा होगा इससे संस्कृति को कोई नुकसान नही होगा जो संरक्षित किले है उनको लेकर पिछली सरकार ने कोई काम नही किया पहले उसका लेखाजोखा दे सिर्फ राजनीति नही करे।

पर्यटन मंत्री जयकुमार रावल ने दी सफाई

महाराष्ट्र के पर्यटन मंत्री जयकुमार रावल ने सफाई दी है की कोई भी किला महाराष्ट्र का भाड़े पर नहीं दिया जाएगा उन्होंने कहा की महाराष्ट्र में ३ तरह की किले है एक जो शिवाजी महाराज के किले है दूसरा इतिहास में दर्ज महत्वपूर्ण किला और तीसरा एएसआई के ताबे में है किला , इसके आलावा कुछ ऐसे किले भी है जो किसी के हद में नहीं है और उनकी हालत ख़राब है ऐसे में उन किलो को सही तरीके से दुरुस्त करने का काम को लेकर एक पॉलिसी बनाई जा रही है उस पॉलिसी के आधार पर किलो को अडॉप्ट कर उसको दुरस्त किया जाएगा जिससे उस किले की देख भाल होगी ‘अडॉप्ट ऑफ़ फोर्ट ‘पॉलिसी के आधार पर लॉन्ग टाइम के लिए किले दिया जाएगा ऐसी पॉलिसी बनाई जा रही है भारत के कई राज्यों ने ऐसी पॉलिसी बनाई है महाराष्ट्र में सबसे ज्यादा किला है लेकिन पिछली सरकार ने इस पर ध्यान नहीं दिया यहाँ तक जिस विधायक के मतदान क्षेत्र में किले थे उस पर भी ध्यान नहीं दिया. जिस किले को अब तक दुरुस्त नहीं किया गया अनदेखी की गई है उन किलों को लेकर सरकार एक हेरिटेज पॉलिसी बना रही है उसी के आधार पर किले की देखभाल हो यह सरकार का पर्यतन है , शादी के लिए या दूसरे कार्यक्रमों क लिए इसका इस्तिमाल होगा यह गलत है बिना कीसी जानकारी के आरोप लगाना गलत है।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Must Read

03 दिसंबर – महाराष्ट्र कोरोना अपडेट

03 दिसंबर - महाराष्ट्र कोरोना अपडेट महाराष्ट्र में कोरोना मरीजो की ठीक होनेवालों की संख्या 17 लाख पार।

बांगुर नगर पुलिस ने 3 विदेशी नागरिकों को पकड़ा जिसके पास से लाखों रुपये के कोकीन मिले..

बांगुर नगर पुलिस ने 3 विदेशी नागरिकों को पकड़ा जिसके पास से लाखों रुपये के कोकीन मिले.. मुंबई :...

मसाला किंग MDH कंपनी के मालिक महाशय धर्मपाल गुलाटी का निधन हो गया …

मसाला किंग MDH कंपनी के मालिक महाशय धर्मपाल गुलाटी का निधन हो गया ... मसाला किंग के नाम से...

मालेगांव बम धमाके मामले में सभी आरोपियों हाजिर होने का आदेश

मालेगांव बम धमाके मामले में सभी आरोपियों हाजिर होने का आदेश 3 दिसंबर से रोजाना होगी सुनवाई

जी. पी.एल कप- 2020 का गोहका में आयोजन

जी. पी.एल कप- 2020 का गोहका में आयोजन जौनपुर: मछली शहर के गोहका में जी पी एल हैंडरम  कप...