बीजेपी के धाकड़ मंत्रियों… तावडे, खडसे, मेहता का चुनाव मे पत्ता कटा….

0
199

बीजेपी के धाकड़ मंत्रियों… तावडे, खडसे, मेहता का चुनाव मे पत्ता कटा….

मुंबई – संवादाता

महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव 2019 मेँ बीजेपी कोटे के फडणवीस कैबिनेट मेँ कई दिग्गज मँत्रियोँ के टिकट पार्टी ने काट दिये हैं।
सूबे के शिक्षा मँत्री विनोद तावडे का विधानसभा चुनाव से ऐन पहले तगड़ा राजनीतिक झटका लगा है और तावड़े का इस चुनाव मेँ लडने का सपना टूट गया है। नामांकन पर्चा दाखिल करने के अँतिम दिन शुक्रवार की सुबह बीजेपी उम्मीदवारोँ की जारी हुई चौथी लिस्ट के आने के साथ ही शिक्षा मँत्री विनोद तावड़े का चुनावी पत्ता कटने की पुष्टि हो गई है। विनोद तावडे मुँबई के पश्चिमी उपनगर बोरीवली विधानसभा सीट से विधायक है। अब इस सीट पर विनोद तावडे की जगह बीजेपी और शिवसेना गठबंधन के उम्मीदवार सुनील राणे को पार्टी ने टिकट थमा दिया है।
सुनील राणे बीजेपी के मुँबई के युवा चेहरा है।
सुनील राणे पहले मुँबई की वर्ली विधानसभा सीट पर चुनाव लड चुके हैँ। अब वर्ली सीट पर शिवसेना के अध्यक्ष उद्धव ठाकरे के बेटे आदित्य ठाकरे शिवसेना और बीजेपी गठबंधन के प्रत्याशी के तौर पर चुनाव लड रहे है।
माना जा रहा है कि कथित फर्जी इँजिनियरिँग डिग्री और दूसरे आरोपोँ की वजह से विपक्षी दलों के नेताओं के आरोपोँ से घिरे शिक्षा मँत्री विनोद तावड़े से बीजेपी ने किनारा करने मे ही पार्टी की भलाई समझी है। और शिक्षा मँत्री तावडे का टिकट काटकर चुनाव प्रचार मे विपक्षी दलों की धार को कुँद कर दिया है। विनोद तावडे किसी वक्त मे सूबे के मुख्यमंत्री की कुर्सी के भी प्रबल दावेदार थे। तावडे महाराष्ट्र की मराठा जाती के नेता हैँ । सूबे की सियासत मे मराठा बेहद ताकतवर है। अब तक प्रदेश के ज्यादातर मुख्यमंत्री मराठा जाति से ही बने हैं। साल 2014 काँग्रेस और एनसीपी गठबंधन को हराकर प्रदेश मेँ सत्ता मेँ आई देवेंद्र फडणवीस सरकार मे पहली बार शिक्षा मँत्री कुर्सी पर आसीन हुये विनोद तावड़े इससे पहले महाराष्ट्र विधान परिषद के विपक्ष के नेता थे।
महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव मेँ बीजेपी और शिवसेना गठबंधन दोबारा सत्ता मेँ लौटने की तगडी सियासी तैयारी करके चुनावी समर मे कूद पडा है और किसी भी राजनीतिक चूक से गठबंधन बच रहा है। बीजेपी और शिवसेना गठबंधन प्रदेश की 288 विधानसभा सीटों मे से कम से कम 220 पर जीत का लक्ष्य बना चुका है।
भाजपा की चौथी लिस्ट जारी हुई तो सूबे के दूसरे धाकड़ बीजेपी नेताओं को भी तगड़ा राजनीतिक झटका लगा है
बीजेपी के कद्दावर नेता पूर्व राजस्व मँत्री एकनाथ खडसे का भी पार्टी ने जलगांव से टिकट काट दिया है। हालांकि एकनाथ खडसे के लिए थोड़ी राहत की बात है की पार्टी ने खडसे की जगह उनकी बेटी को टिकट थमा दिया है। एकनाथ खडसे को कथित जमीन घोटाले मे उनका नाम उछलने पर खडसे को फडणवीस कैबिनेट से इस्तीफा देना पडा था।
बीजेपी मुँबई की कोलाबा सीट से विधायक कैबिनेट मँत्री दर्जा हासिल राज पुरोहित का भी पत्ता काट दिया है। राजपुरोहित की जगह राहुल नार्वेकर को टिकट मिल गया है। हाउसिंग घोटाले के आरोपोँ के बाद महाराष्ट्र की कैबिनेट से बाहर हुये पूर्व गृहनिर्माण मँत्री प्रकाश मेहता को भी पार्टी ने इस बार घर बिठा दिया है।
घाटकोपर ईस्ट विधानसभा सीट पर पूर्व मंत्री प्रकाश महेता का टिकट काटकर बीजेपी ने पराग शाह को टिकट दिया है।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें