कनाडा में तिरंगा और मेपल कार रैली के जरिये दिया गया एकता और भाई चारे का संदेश

0
360

कनाडा में तिरंगा और मेपल कार रैली के जरिये दिया गया एकता और भाई चारे का संदेश

सात समुंदर पार भारतीयों ने लहराया तिरंगा

कनाडा के ब्रैम्पटन, ओंटारियो में गत रविवार 28 फरवरी 2021 को इंडो-कैनेडियन समुदाय द्वारा जश्न मनाने के लिए सैकड़ों कारों की एक विशाल “तिरंगा और मेपल कार रैली” का आयोजन
कनाडा में किया गया था।

जिसमे कनाडा एवं भारत जैसे दो महान देशों के बढ़ते संबंध। कोविड -19 महामारी ने दुनिया भर में लाखों लोगों की जान ले ली है, दुर्भाग्य से यहाँ घरो में लोग कई महीनों तक बीमारी के कारण कैद हो गये थे। ऐसे संकट के समय में प्रधानमंत्री ट्रूडो और नरेंद्र मोदी जी ने साहसिक कदम बढ़ाते हुए कोविड वैक्सीन कनाडा को आपूर्ति करके लाखों लोगों की जान बचाने के लिए एक साथ आये हैं ।
कोविड टीको की बड़ी खेप प्रदान करने हेतु हम भारत को वसुधैव कुटुम्बकम ’के प्राचीन वैदिक मूल्य का आभास कराने हेतु बार बार धन्यवाद देते हैं। जिसका अर्थ है ‘दुनिया एक परिवार है’। कनाडा को टीके लगवाना इस मूल्य की पुष्टि करता है और दो महान लोकतंत्रों द्वारा साझा की गई दोस्ती।

इस रैली के आयोजक डॉ शिवेंद्र द्विवेदी मोंट्रियल कनाडा , नरेश चावडा(टोरंटो),विपीन शर्मा(टोरंटो) एवं इंडो कैनेडियन एसोशिएशन ने
कहा कि हमलोग भारत को भली भांति पहचानते हैं 40 से अधिक देशों के साथ वैक्सीन की आपूर्ति को साझा करके वैश्विक मांग को पूरा करने का सराहनीय प्रयास है।
दुनिया भर में छाये संकट के समय मे सही निर्णय के लिए हमलोग ट्रूडो के नेतृत्व वाली कनाडा सरकार के प्रयासों भी का धन्यवाद करते हैं ।
भारत से कोविड 19 टीके मंगाकर सबको सुरक्षा प्रदान करने के लिए भारत ने तत्काल आपूर्ति का वादा किया है इस आने वाले सप्ताह में 500,000 वैक्सीन और उसके बाद 2 मिलियन वैक्सीन की आपूर्ति होगी आने वाले महीनों में खुराक। कार्रवाई अनगिनत कनाडाई लोगों के जीवन को बचाएगी। इंडो-कनाडाई लोगों के लिए आज गर्व का क्षण है जिन्होंने महत्वपूर्ण योगदान दिया है कनाडा के समाज के लिए। अंत में हम पील पुलिस और ओपीपी को उनकी समय पर प्रतिक्रिया के लिए धन्यवाद देना चाहते हैं ।
असामाजिक तत्व जिन्होंने शांतिपूर्ण प्रतिभागियों को धमकाने, हमला करने और डराने की कोशिश की। हमें भरोसा है कि कानून तोड़ने वालों के खिलाफ पुलिस अधिकारी कार्रवाई करेंगे। वैचारिक विरोध की परवाह किए बिना सभी नागरिकों को शांतिपूर्ण विरोध का अधिकार मौलिक है।
इंडो-कैनेडियन के विभिन्न समूह डॉ शिवेंद्र द्विवेदी मोंट्रियल कनाडा, नरेश चावडा(टोरंटो),विपीन शर्मा(टोरंटो) एवं इंडो कैनेडियन एसोशिएशन ने इस कार रैली में भाग लेकर एकता और भाई चारे का संदेश देश और दुनियां को देने का नेक कार्य किया है।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें