लॉकडाउन के दौरान गरीब और जरूरतमंद लोगों को कुछ रियायत दी जाए -अबू आसिम आजमी

0
151

लॉकडाउन के दौरान गरीब और जरूरतमंद लोगों को कुछ रियायत दी जाए -अबू आसिम आजमी


आजमी ने गृहमंत्री अनिल देशमुख को पत्र लिखा
राज्य के दूसरे शहरों और दूसरे राज्यों से मुंबई आए और लॉकडाउन में फंसे लोगों को वापस भेजने के लिए पास जारी किया जाए -आजमी

मुंबई – संवादाता

समाजवादी पार्टी के विधायक अबू आसिम आजमी ने राज्य के गृहमंत्री अनिल देशमुख को पत्र लिखकर लॉकडाउन के दौरान गरीब और जरूरतमंद लोगों के लिए कुछ रियायत देने की अपील की है। आजमी ने पत्र में बताया है कि केंद्र सरकार की तरफ से 21 दिन के लिए पूरे देश में लॉकडाउन लागू किया गया है। इसके अनुसार 21 दिन तक लोगों को घर से बाहर निकलने पर पाबन्दी लगा दी गयी है जिस पर पुलिस को सख्ती से अमल करने के निर्देश दिए गए है।

सभी लोग लॉक डाउन का पालन कर रहे हैं और जनप्रतिनिधि के नाते वो भी लॉक डाउन को अमल करवाने की पूरी कोशिश कर रहे हैं। इसी के साथ आजमी ने बताया है कि किसी परिवार का कोई व्यक्ति बीमार हो जाए या किसी को रोज़ाना अस्पताल , जेल या लॉकअप में खाना, दवाई या सामान पहुंचना पड़ता हो तो उसे रियायत दी जाए। इसी तरह कोई व्यक्ति गरीबों के लिए कुछ सहायता पहुंचाने का काम करता तो , ऐसे लोगों के लिए पुलिस से पास इश्यू करवाए जाए।

उन्होंने आगे बताया है कि पुलिस सख्ती के साथ गली-गली घूम कर लोगों को घरों में रहने के लिए समझा रही है , लेकिन मानखुर्द -शिवाजी नगर और गोवंडी में घर बहुत छोटे और परिवार बड़े है, जिसकी वजह से पुलिस के जाने के बाद लोग बाहर आ जाते है और भीड़ में जमा हो जाते है, जो बहुत खतरनाक स्थिति होती है। ऐसे में आजमी ने निवेदन की है कि हर इलाके में कुछ अच्छे वोलेंटियर को पास दिया जाए जो अपने इलाके में पुलिस ना होने पर पुलिस की तरह लोगों को समझाने का काम करें।

इसी तरह बहुत सारे ऐसे लोग हैं जो महाराष्ट्र के अलग-अलग जिलों से मुंबई आए थे उन्हें वापस अपने घर जाने के लिए पास दिए जाएं ताकि उन्हें रास्ते में कहीं रोका ना जाए। बहुत सारे लोग दूसरे राज्यों से इलाज के लिए मुंबई में आकर लॉकडाउन में फस गए है, उन्हें भी वापस जाने के लिए परमिशन लेटर देने की मांग आजमी ने की है ताकि ऐसे लोग मुंबई से अपने गांव जा सकें।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें