होम Strategy Politics उद्धव ठाकरे को विधायक बनाने के लिए फिर से किया मंत्रिमंडल ने...

उद्धव ठाकरे को विधायक बनाने के लिए फिर से किया मंत्रिमंडल ने सिफारिश

उद्धव ठाकरे को विधायक बनाने के लिए फिर से किया मंत्रिमंडल ने सिफारिश

मुंबई – संवादाता

सी.एम. उद्धव ठाकरे को विधानपरिषद की खाली एक सीट पर एम.एल.सी. मनोनीत करने की महाराष्ट्र मँत्रिमँडल ने सोमवार को राज्यपाल से दोबारा सिफारिश किया है।
मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे अभी किसी भी सदन के सदस्य नहीं हैँँ।
महाराष्ट्र कैबिनेट ने कोऱोना सँक्रमण से पैदा हुई मौजूदा स्थिति का हवाला देते हुए ठाकरे को एम.एल.सी. मनोनीत करने की राज्यपाल से दोबारा सिफारिश भेजी है।
उद्वव ठाकरे ने 28 नवंबर 2019 को एन.सी.पी.और काँग्रेस से हाथ मिलाकर सूबे में महाविकास अघाड़ी की सरकार बनाई थी।
इस लिहाज से मुख्यमंत्री कुर्सी पर बने रहने के लिए उद्धव ठाकरे को 28 मई तक प्रदेश के किसी भी सदन की सदस्यता हासिल करनी होगी।
भारतीय संविधान के अनुच्छेद 164(4) के तहत किसी भी सदन से जुड़े ना होने के बावजूद भी कोई भी शख्स 6 महीने तक मंत्रिमंडल में मँत्री या मुख्यमंत्री पद पर बने रह सकता है। और अब इन बदले राजनीति माहौल में
सी.एम. उद्धव ठाकरे को 28 मई तक किसी भी एक सदन का सदस्य बनने की सँवैधानिक बाध्यता है।
अन्यथा उन्हें मुख्यमंत्री कुर्सी छोडनी पडेगी। दरअसल महाराष्ट्र में बीते 26 मार्च को प्रदेश मेँ 9 विधान परिषद सीटों पर चुनाव होना था लेकिन सूबे में कोऱोना सँक्रमण के बढते खतरे की वजह से चुनाव अनिश्चितकाल के लिए टाल दिया गया था।
उद्धव ठाकरे की मँत्रिमँडल ने पिछली 9 अप्रैल को भी महाराष्ट्र के गवर्नर को सी.एम. उद्धव ठाकरे को एम.एल.सी मनोनीत करने की सिफारिशी चिठ्ठी राजभवन को भेजी थी।
भारतीय संविधान के अनुच्छेद 171 के तहत राज्यपाल को कुछ निश्चित संख्या में विधान परिषद में सदस्यों को मनोनीत करने का सँवैधानिक अधिकार हासिल है।
मनोनीत एम.एल.सी. कला, साहित्य, विज्ञान, समाज सेवा बैकग्राउण्ड वाले व्यक्ति होना जरूरी हैँ तब जाकर अपने विवेक से राज्यपाल सदस्यों को मनोनीत करते हैं।
एन.सी.पी.के विधायकों के इस्तीफे की वजह से दो सीटें खाली हुई थीँ जो पिछले साल के विधानसभा चुनावों से ऐन पहले बीजेपी में शामिल हो गए थे। सी.एम.ठाकरे को विधान परिषद का सदस्य मनोनीत करने को लेकर महाराष्ट्र के गवर्नर भगत सिंह कोश्यारी ने अबतक कोई फैसला नहीं लिया है।
और राजभवन की चुप्पी को लेकर मुख्यमंत्री ठाकरे अगुवाई वाले गठबंधन महा विकास आघाडी की चिँता बढ गई है।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

Must Read

29 नवंबर महाराष्ट्र कोरोना की स्तिति…

29 नवंबर महाराष्ट्र कोरोना की स्तिति... राज्य में अब कुल मरीजो की संख्या 18,20,059 हुआ। राज्य...

चिंकी -पिंकी के साथ धमाल करेंगे अभिनेता अभय प्रताप सिंह

चिंकी -पिंकी के साथ धमाल करेंगे अभिनेता अभय प्रताप सिंह मुंबई : टेलीविज़न की दुनिया के मशहूर एक्टर अभय...

शिवसेना नेता संजय राउत ने जमकर बीजेपी को घेरा

शिवसेना नेता संजय राउत ने जमकर बीजेपी पर निशाना साधते हुए कई मुद्दों पर बीजेपी को घेरा। संजय राउत...

लिफ्ट में फंसने से पांच साल के बच्चे की मौत.

लिफ्ट में फंसने से पांच साल के बच्चे की मौत. मुंबई के धारावी इलाके में...

मुंबईकरों के लिए जरूरी सूचना, 2 और तीन दिसंबर को इन इलाकों में नहीं आएगा पानी

मुंबईकरों के लिए जरूरी सूचना, 2 और तीन दिसंबर को इन इलाकों में नहीं आएगा पानी । मुंबई :...